हॉपर थ्रेशर

भारत का पहला ऐसा सफल यंत्र जो बना किसानों की खुशहाली का पर्याय “दादा खरीदे-पोता चलाये”

कृषि दर्शन ने कृषि मशीनरी-यंत्रों के क्षेत्र में सफलता के नए आयाम निरूपित करते हुए भारत में पहला ऐसा कृषि यन्त्र “हापर थ्रेसर” प्रस्तुत किया है, जो अल्प अवधि में ही किसानों की खुशहाली का पर्याय बन चुका है। कृषि लागत में भारी बचत के साथ खेती को बड़े लाभ का धंधा बनाने की बातें, जब इसे वापरने वाले किसान करते हैं तो हमें इसी बात से इतनी ख़ुशी मिलती है कि देश में कृषि विकास में योगदान देने के मिशन में हम सफल हो रहें हैं।

सेंड इंक्वारी

Description

हापर थ्रेसर की विशेषताओं से चमत्कृत किसान:-

– आइये जानते हैं कि हापर थ्रेसर मैं ऐसी क्या खासियत है जो किसान भाई इसके इससे चमत्कृत हैं:-

1- हापर थ्रेसर लगभग सभी फसलों की गहराई के लिए सर्वोत्तम।
2- बड़ा ड्रम साईज, आज की अधिक निकासी, ट्रेकट पर काम लोड अर्थात समय और महंगे ईंधन की भारी बचत।
3- डबल फेन, माइक्रो फ़िल्टर तकनीक से गुणवत्तापूर्ण साबुत अनाज अर्थात धन की बारिश और किसान मालामाल।
4- कृषि दर्शन की तकनीक :- सील्ड बेरिंग में चलित थ्रेसर जो बार-बार लगने वाले ऑइल-ग्रीस का खर्च की बचत करें।
5- 150-2001-2008 सर्टिफिकेट का भरोसा:- उच्च क्वालिटी इस्पात से हिनाहर इंजीनियर्स की देख-रेख में कुशल कारीगरों की मेहनत का तोहफा है ये थ्रेसर।

6- क़्वालिटी से समझौता नहीं:- हमेशा ओरिजनल बियरिंग बेल्ट, स्टील शीट, ब्राइट बार शॉक्ट एवं पड़ी स्टील का उपयोग।
7- हापर थ्रेसर मतलब महंगे श्रम की बचत, इसमें है अलग से एलीगेटर लगाने की सुविधा।
8- असंभव भी संभव अर्थात जीरो बैलेंस मशीन को करे सार्थक। हेवी प्लाय व्हील के साथ सम्पूर्ण बेलेंस।
9- विभिन्न अनाज हेतु अलग-अलग भीतर जालिया जिन्हें बदलना बिलकुल आसान।
10- रूटर में हाई-टेम्पर कटर ब्लेड जो नमी वाली फसलें भी निकाले।
11- डेन-दाने में दम: अनाजों की बेस्ट ग्रेडिंग करें जिससे मिले फसल के ऊँचे दाम।
12- टिकाऊ, किफ़ायती और मजबूती में बेजोड़। इसीलिए कहते हैं . .

“दादा ख़रीदे- पोता चलाये”

“बंधन हमारा, धरती के साथ “

Hopper Thresher